इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में सीवीओ की छापामारी, एक्स चेयरमैन का कब्जाया पार्क, ई आक्शन में बेची सरकारी प्रॉपटियां, ऋषि नगर में दिए एलडीपी संबंधी खंगाला रिकार्ड

Apr 6, 2022 / /

यशपाल शर्मा, लुधियाना
इंंप्रूवमेंट ट्रस्ट के पूर्व चेयरमेन रमण बाला सुब्रामनियम के कार्यकाल में हुए घोटालों की जांच को आज लुधियाना इंप्रूवमेंट ट्रस्ट आफिस में सीवीओ टीम की ओर से दबिश दी गई। इस टीम की अगुवाई मुख्य जांच अफसर व चीफ विजिलेंस आफिसर राजीव सेकेड़ी की ओर से की गई। सीवीओ टीम 18 के करीब शिकायतों की जांच को रिकार्ड लेने आफिस पहुंची थी और इसके पूरे रिकार्ड को खंगालने व इसको कब्जे में लेने को आधा दर्जन के करीब विजिलेंस आफिसर माैजूद थे। इनमें से अधिककतर शिकायतें ट्रस्ट के सेल्स ब्रांच से संबंधित थे और इसके अलावा कुछ घटिया सड़क निर्माण को लेकर भी उक्त टीम ने इंजीनियरिंग विंग से भी कुछ दस्तावेज मांगे हैं। इस टीम ने आज अहम तौर पर पूर्व चेयरमैन रमण बाला सुब्रमानियम की प्राइवेट लैंड में बनी कोठी के साथ कब्जाई गई सरकारी जमीन मामले में ट्रस्ट में स्टाफ से पूछताछ की गई। इसके अलावा ऋषि नगर में करीब 250 करोड़ रुपए कीमत की पॉश साढे़ तीन एकड़ जमीन पर एलडीपी प्लॉट में हुई बड़े घोटालें संबंधी भी सीवीओ ने रिकार्ड मांगा है। इसके साथ कईं अन्य एलडीपी प्लाटों व ई आक्शन में बेची गई प्रॉपटियों के मामला संबंधी भी उक्त टीम ने ईओ कुलजीत कौर व स्टाफ से पूछताछ की।इसके साथ साथ उक्त टीम ने पूर्व चेयरमैन के कार्यकाल में हुई रजिस्ट्री एग्रीमेंट संंबंधी भी कईं फाइलें अपने कब्जे में ली हैं। इसके अलावा उक्त टीम ने पक्खोवाल रोड के निर्माण मेें घटिया मैटीरियल इस्तेमाल, माडल टाउन गोल मार्केट पार्क के एस्टीमेट व खर्च का भी ब्यौरा मांगा है।
------
पूर्व चेयरमैन रमण बाला सुब्रमानियम की कोठी के साथ कब्जाए पार्क में उलझा ट्रस्ट
बात करें इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के एक्स चेयरमैन रमण बाला सुब्रामानियम की ओर से बीआरएस नगर एल ब्लॉक के साथ प्राइवेट लैंड में बनाई अपनी कोठी के साथ सरकारी जमीन को पार्क की शक्ल में कब्जाने का मामला आज सीवीओ जांच का हॉट केस रहा। बताया जाता है कि इस जमीन को पूर्व चेयरमैन की कोठी के साथ जो़ड़ने के लिए एक एसडीओ ने पूरी सरकारी प्लानिंग को ही बदल डाला और जिस लिहाज से रमण बाला सुब्रामनियम को फायदा दिया जा सकता, उस लिहाज से इसका ले आउट तैयार कर पार्क तैयार कर दिया गया और पार्क पर गेट लगा इस आउट साइडर के लिए लॉक कर दिया गया। इस सरकारी पार्क में अब कोठी मालिक अपनी कारें पार्क करते हैं और यहां पर पूर्व चेयरमैन ने अपना जनरेटर पर रखा हुआ था, जबकि इस संबंधी आज स्टाफ ने सीवीओ को बताया कि मौके से जनरेटर हटा दिया गया। सीवीओ ने इस पूरी पार्क को व इसके आसपास की गई ब्यूटीफिकेशन में खर्च हुए सरकारी फंड का भी लेखा जोखा मांगा है। इसके साथ सीवीओ ने इस पार्क में लगे गेट को खुलवाने व इसके पब्लिक पार्क होने संबंधी बड़ा बोर्ड लगाने की भी हिदायत इंजीनियरिंग विंग के एसई सतभूषण सचदेवा को की हैं।
--------
ऋषि नगर 250 करोड़ की जमीन में एलडीपी देने का विवाद गर्माया
सीवीओ की जांच में ऋषि नगर वाई ब्लॉक के साथ 100 फुटी रोड पर करीब 250 करोड़ कीमत की करीब साढे़ तीन एकड़ जमीन पर नियमों को ताक में रख दिए गए एलडीपी प्लॉट का मामला भी बेहद अहम रहा। जांच टीम को सेल ब्रांच का कहना था कि अन्य स्कीम में प्लॉट न होने की सूरत में इस जमीन पर प्लॉट दिए गए हैं, लेकिन दूसरी स्कीम की एलडीपी यहां देने में करोड़ों का खेल में अफसरों का बचना मुशिकल दिखाई दे रहा है। ट्रस्ट के तत्कालीन चेयरमैन की मिलीभगत से इस पॉश जमीन में अपने चहेतों को ये करोड़ों की कीमत के प्लाट मोटी रिश्वत लेकर आलॉट कर दिए गए। जबकि शहीद भगत सिंह नगर व ट्रांसपोर्ट नगर में 500 गज या इससे छोटे 300 -400 गज के प्लॉट उपलब्ध न होने के बावजूद करोड़ों रुपए की सरकारी जमीन में बड़ा घोटाला कर दिया गया। ट्रस्ट अफसरों का कहना था कि इस स्पेशल पर्पज जमीन के लिए उनकी ओर से सरकार से इस स्कीम में अमेंडमेंट करवा इसमें 500 गज के प्लाट काटने की मंजूरी ली थी, लेकिन बड़ी बात है कि इस मंजूरी में ये कहीं नहीं था कि इस जमीन पर एलडीपी प्लॉट दिए जाएंगे।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News