भिंडर का पार्टी छोड़ना उनकी हल्का पूर्वी से विधायक पद की लालसा- रंजीत ढिल्लो

Jan 5, 2021 / /

शिअद लुधियाना शहरी प्रधान व पूर्व हल्का पूर्वी के पूर्व विधायक रनजीत सिंह ढिल्लों के निवास स्थान पर आज हल्का पूर्वी की कोर कमेटी द्वारा बैठक की गई । जिसमे शिअद छोड़कर आप पार्टी में शामिल होने वाले तरसेम सिंह भिंडर को लेकर भी मुख्य रूप से चर्चा की गई । शिअद प्रधान रनजीत सिंह ढिल्लों व कोर कमेटी के सदस्यों ने संयुक्त रूप में कहा पार्टी सबसे सर्वोच है पार्टी की नीतियों को सर्वोच्च रखकर ही पार्टी में फैसले लिए जाते है कमेटी में चर्चा दौरान जिला प्रधान रनजीत सिंह ढिल्लों व कोर कमेटी के सदस्यों ने कहा तरसेम सिंह भिंडर को सदैव पार्टी द्वारा बनता सन्मान दिया गया पहले 2007 में पार्षद की टिकट दी फिर 2012 में उनकी धर्मपत्नी को टिकट दी,2017 में फिर उनकी पत्नी को पार्षद की टिकट दी ये अलग बात है वो बड़ी लीड से चुनाव में पराजित हुई। कारण वार्ड की जनता को समय न देना और उनकी समस्याओं के निदान हेतु कोई सार्थक प्रयास न करना। इस दौरान जनता के किसी विकास कार्य को करवाने हेतु हल्का विधायक रनजीत सिंह ढिल्लों व विधायक हीरा सिंह गाबड़िया संग आपनी ईगो के कारण न जाना भी रहा ।पार्टी द्वारा भींडर को सन्मान देते हुए शिअद यूथ कोर कमेटी का सदस्य भी चुना गया और मालवा जोन 3 का शिअद यूथ का प्रधान भी बनाया । पार्टी द्वारा दिये गए सन्मान के कारण ही उनकी पहचान बनी लेकिन पार्टी को आपनी ईगो के कारण तरसेम सिंह भींडर से सदा नुकसान ही पहुंचा। किसी भी दिए गए पार्टी की जिम्मेदारियों को सही ढंग से नही निभा पाए । जिसका नुकसान पार्टी को पिछले चार चुनाव के दौरान लगातार हार स्वरूप उनके ही वार्ड से झेलना पड़ा । लगातार चार बार आपने ही वार्ड में ही पार्टी की हार दिलवाने वाले नेता का आलम ये था कि हल्का पूर्वी से विधायक की टिकट की दावेदारी पार्टी हाईकमान समक्ष करते थे लेकिन शिअद सदैव पार्टी की सर्वोच्च नीतियों पर ही कार्यशील रहती है चूंकि शिअद के प्रधान से लेकर सभी कार्यकर्ताओं के लिए पार्टी ही सर्वोच है । पार्टी के हित मे ही शिअद हाईकमान सदैव फैसले लेती है। जिस कारण पार्टी द्वारा उन्हें किसी प्रकार का भरोसा नही दिया गया। इसी दौरान भिंडर के पुराने साथी दलजीत सिंह भोला जो पिछली चुनाव आप से लड़े थे वो कांग्रेस में शामिल हो गए थे। भिंडर की हल्का पूर्वी से चुनाव लड़ने की लालसा उन्हें इस मौके आप मे ले गई ,चूंकि आप को भी हल्का पूर्वी से उम्मीदवार की जरूरत थी । आप की सोच पर शिअद कोर कमेटी भी अचंभे में नजर आई ऐसे व्यक्ति को हल्का पूर्वी से विधायक स्वरूप कैसे उतार सकती है । जिसके वार्ड से उसे इतना सन्मान देने वाली पार्टी ही चार बार लगातार हार चुकी हो।
इस मौके कोर कमेटी के पार्षद सर्वजीत सिंह लाड़ी,डॉ अश्वनी पासी, एस सी विंग सीनियर प्रधान मुख्तयार सिंह चीमा,पूर्व पार्षद सुखदेव सिंह गिल,जपन मेहन,पार्षद पति बलविंदर सिंह शेंकि, कमलजीत सिंह निक्कू ग्रेवाल,सविंद्रपाल सिंह रीतू, बलविंदर सिंह एम डी विशेष रूप से उपस्थित थे।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News