सांसद मनीष तिवारी से मिला यूसीपीएमए का शिष्टमंडल, इंडस्ट्री की मांगों के संबंध में सौंपा ज्ञापन

Dec 12, 2021 / /

यशपाल शर्मा, लुधियाना 
इंडस्ट्री को पेश आ रही समस्याओं को लेकर यूनाइटेड साइकिल एन्ड पार्ट्स मेन्युफेकर्ज एसोसिएशन (यूसीपीएमए) के एक शिष्टमंडल ने श्री आनंदपुर साहिब से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी के साथ लुधियाना में मुलाकात की। जिन्होंने सांसद को इंडस्ट्री को पेश आ रही समस्याओं के बारे में बताया और उन्हें राज्य व केंद्र सरकार के स्तर पर सुलझाने की मांग की। जहां पंजाब लार्ज इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बोर्ड के चेयरमैन पवन दीवान भी विशेष तौर पर मौजूद रहे। उद्योगपतियों ने सांसद को बताया कि पीएसपीसीएल द्वारा इंडस्ट्री को पीआईयू और 2 पार्ट टैरिफ के जरिए भारी जुर्माना लगाया जाता है।  जिनके मुताबिक हाल ही में हुई रिसर्च में सामने आया है कि 31 मार्च, 2019 को लुधियाना में करीब एक लाख एमएसएमई इंडस्ट्री थी और इन उद्योगों पर 24.50 लाख रुपए का क्रेडिट खड़ा था। जिसका असर हुआ और अब एमएसएमई यूनिट घटकर 90 हजार रह गए हैं, जबकि क्रेडिट बढ़कर करीब 37 लाख रुपए हो गया है। उन्होंने पीएसपीसीएल से क्लियरेंस लेने के लिए एमएसएमई इंडस्ट्री को जागरूक करने की जरूरत पर बल दिया है और पीएसपीसीएल से यह जुर्माने की राशि माफ कराने की मांग करते हुए, 31 मार्च, 2022 तक पीआईएल बढ़ाने की अपील की।
इसी तरह, टू पार्ट टैरिफ को सिंगल टैरिफ से बदलना चलना चाहिए और उन्हें सभी खर्चे व टैक्स मिलाकर 5 रुपये प्रति यूनिट बिजली मिलनी चाहिए। इसके अलावा, स्टील के लगातार बढ़ रहे रेटों के चलते उनके व्यापार को हो रहे नुकसान के बारे में भी बताया। जिसके लिए वे लंबे वक्त से स्टीव रेगुलेटरी अथॉरिटी बनाने की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे हैं। केंद्र को मेक इन इंडिया को प्रोत्साहित करने के लिए एमएसएमई क्षेत्र को सुविधाएं देनी चाहिएं, जिससे बड़ी संख्या में लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है। इस दौरान सांसद ने इंडस्ट्री के प्रतिनिधियों की समस्याओं को सुना और उन्हें जल्द ही राज्य व केंद्र स्तर पर उठाने का भरोसा दिया। सांसद ने कहा कि  पंजाब की तरक्की के लिए उद्योगों को अच्छा माहौल मिलना आवश्यक है और उनकी समस्याओं को जल्द हल करवाने का प्रयास किया जाएगा ।
शिष्टमंडल में अन्य के अलावा, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट गुरचरण सिंह जेम्को, महासचिव मनजिंदर सिंह सचदेवा, सचिव वलैती राम, आर एन्ड डी सेंटर के सदस्य अवतार सिंह भोगल, इंदरजीत सिंह नवयुग पूर्व प्रधान और रविंदर वर्मा (रवि वर्मा) भी शामिल रहे।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News