फीको ने सरकार से मांगी मदद, बोले तालाबंदी में कारोबारी लेबर को नही दे सकते अप्रैल का वेतन

Apr 18, 2020 / /

फीको के साथ चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने लॉकडाउन की अवधि के लिए वेतन के संबंध में एक ज़ूम वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमें वी.के. जंजुआ प्रमुख सचिव, पंजाब सरकार के श्रम विभाग मुख्य वक्ता थे।
करण गिल्होत्रा चेयरमैन पीएचडी चैंबर पंजाब जोन, गुरमीत सिंह कुलार ज़ोनल चेयरमैन पीएचडी चैंबर लुधियाना व प्रधान फीको, मनजिंदर सिंह सचदेवा सीनियर उप प्रधान फीको और अश्प्रीत साहनी सचिव फीको ने उद्योग के मुद्दों को संबोधित करते हुए कहा कि दुर्भाग्य से, खतरनाक कोविद-19 ने हमारे देश को भी हिट किया है और 22 मार्च 2020 से पूरा देश लॉकडाउन में है। जिसका मतलब है कि कारखाने बंद हैं, न केवल उत्पादन शून्य है, बल्कि वित्त का प्रवाह भी शून्य है,। पूरे देश में कोई कैश फ्लो नहीं हो रहा है। हालात इतने खराब हैं कि 22 मार्च से पहले भेजे गए माल रास्ते में अटक पड़ा है, क्योंकि सभी व्यापारी घरों में बंद हैं। यह उद्योग के लिए एक बहुत ही चिंताजनक स्थिति है, और उद्योग घर बैठे मजदूरों को अप्रैल के महीने के लिए वेतन और मजदूरी का भुगतान करने की स्थिति में नहीं है। फीको के प्रधान गुरमीत सिंह कुलार के साथ अश्प्रीत सिंह साहनी आयोजन सचिव फीको ने केंद्र सरकार के साथ-साथ राज्य सरकार से हस्तक्षेप करने और वेतन का 50% -50% हिस्सा साझा करने और प्रत्येक को वेतन और मजदूरी का भुगतान करके उद्योग की मदद करने के लिए अनुरोध किया है।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News