हरियाणा में कांग्रेस का अविश्‍वास प्रस्‍ताव गिरा, प्रस्‍ताव के पक्ष में 32 व‍ विरोध में 55 वोट

Mar 10, 2021 / /


हरियाणा विधानसभा में विश्‍वास प्रस्‍ताव गिर गया है। अविश्‍वास प्रस्‍ताव के पक्ष में 32 वोट मिले तो प्रस्‍ताव के विरोध में 55 वोट पड़े। प्रस्‍ताव पर चर्चा के बाद वोटिंग की प्रक्रिया शुरू हो गई है। चर्चा के दौरान सदन में सत्‍ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों के बीच गर्मागरम बहस हुई। सदन कांग्रेस के सभी विधायक अविश्‍वास प्रस्‍ताव के पक्ष में समर्थन में खड़े हुए। भाजपा और जननाय‍क जनता पार्टी के विधायक अविश्‍वास प्रस्‍ताव के विरोध में खड़े हुए। हरियाणा विधानसभा में करीब छह घंटे की लंबी चर्चा के बाद करीब 5 बजकर 2 मिनट पर अविश्‍वास प्रस्ताव पर वोटिंग की प्रकिया शुरू हुई। अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में 32 विधायक खड़े हुए। अविश्‍वास प्रस्‍ताव के पक्ष में कांग्रेस के 30 विधायक और दो निर्दलीय विधायक खड़े हुए। इसके साथी अविश्‍वास प्रस्ताव के विरोध में 55 विधायक खड़े हुए। स्‍पीकर का वोट नहीं गिना गया। इनमें भाजपा के 40 और जजपा के 10 विधायक व निर्दलीय विधायक शामिल थे। 90 सदस्यीय हरियाणा विधानसभा में 88 विधायक माैजूद रहे। एक विधायक अभय चौटाला इस्तीफा दे चुके हैं और एक विधायक प्रदीप चौधरी को विधानसभा की सदस्यता से निलंबित किया गया था। सदन में कांग्रेस विधायक दल के नेता और नेता विपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने अविश्‍वास प्रस्‍ताव पेश किया। हुड्डा ने सरकार पर जमकर हमले किए। इसके बाद मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने और उपमुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला ने हुड्डा और कांग्रेस पर हमले किए। सीएम मनोहरलाल ने कहा कि कांग्रेस के मन के मुताबिक काम न हो तो उसे अविश्‍वास हो जाता है। दरअसल कांग्रेस में विश्‍वास का संकट है। इस अविश्‍वास प्रस्‍ताव से हमारा ही फायदा है और अगले छह महीने के लिए हमारे ऊपर से खतरा टल जाएगा।


हरियाणा विधानसभा में विधायकों का यह है नंबर खेल

भाजपा - 40

जजपा - 10

निर्दलीय - 7 (दो बलराज कुंडू व सोमवीर सांगवान अविश्‍वास प्रस्‍ताव के समर्थन में रहे।)

हलोपा - 1


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News