एलडीपी प्लॉट के ड्रा को लेकर फिर से चर्चा में इंप्रूवमेंट ट्रस्ट, ड्रा में आ रही करोड़ों के घोटाले की बू

Feb 20, 2021 / /

यशपाल शर्मा, लुध्रियाना
लुधियाना इंप्रूवमेंट ट्रस्ट एक बार फिर से एलडीपी प्लॉट (लैंड डिस्पोज पर्सन) के ड्रा को लेकर चर्चा में आया हुआ है। ड्रा के जरिए ये इस बडे़ घोटाले का खेल निर्मला देवी की 500 गज की एलडीपी में अंजाम दिया गया। यह ड्रा बीते सप्ताह इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में निकाला गया है और इसमें सीधे सीधे अलॉटी को करोड़ों रुपए का फायदा पहुंचाया गया। बड़ी बात है कि यह ड्रा 500 गज की एलडीपी के लिए निकाला गया था और अलॉटी को फायदा देने के लिए ट्रस्ट की आमदनी को चूना लगाकर अलॉटी को 400 गज का प्लॉट दे दिया गया। इस ड्रा में घोटाले के आरोपों का कारण केवल यही नहीं है, इसके साथ साथ प्लॉट की अलॉटमेंट में भी बड़ा पिक एंड चूज किया गया। ट्रस्ट के पास शहीद भगत सिंह नगर में 500 गज के कईं प्लॉट खाली हैं, लेकिन ड्रा में सस्ते मार्केट रेट वाले प्लॉट डालने की बजाय मोटी मार्केट रेट (प्लॉट नंबर 9- बी जिसका कामशिर्यल इस्तेमाल संभव है) वाला प्लॉट डाला गया। धांधली का ये पूरा खेल मौजूदा इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के चेयरमैन रमन बालासुब्रामण्यम जो ईमानदारी की बड़ी बड़ी दलीलें देते हैं, की छत्रछाया में खेला गया। इस संबंधी जब उनसे फोन पर बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने साफ साफ बात करने से इंकार कर दिया। जबकि इंप्रूवमेंट ट्रस्ट के अफसर इस ड्रा के पीछे कोर्ट आर्डर होने का हवाला दे रहे हैं। लेकिन बड़ी बात ये है कि ट्रस्ट में दर्जनों कोर्ट आर्डर वाले केस ड्रा के लिए टेबलों पर लंबे अर्सें से इंतजार कर रही हैं। यही नहीं इंप्रूवमेंट ट्रस्ट में इससे पहले निकाले गए ड्रा व स्पीकिंग आर्डर वाले दर्जनों केसों की इंक्वायरी का मामला पिछले लंबे समय से लोकल गवर्नमेंट के पास पेंडिंग है और उनका फैसले आने से पहले ही इस एलडीपी प्लॉट का ड्रा निकाल दिया।

इस तरह समझे ड्रा में होने वाली धांधली का खेल
नियमों के तहत 500 गज की एलडीपी के बदले 500 गज का ही प्लॉट ही ड्रा में डाला जाना चाहिए। इस ड्रा में अलॉटी को 500 गज के प्लॉट के लिए प्लॉट की मौजूदा सरकारी रिजर्व रेट की दोगुना राशि ट्रस्ट के खाते में जमा करवानी होती है। वहीं अगर 300 गज का प्लाट हो तो उसके लिए सरकारी रिजर्व रेट की सिंगल राशि और 400 गज के लिए सरकारी रिजर्व रेट की डेढ़ गुना राशि सरकारी खाते में जमा करवानी होती है। लेकिन निर्मला देवी के निकाले गए ड्रा में ऐसा कुछ भी नहीं हुआ। 500 गज की एलडीपी के लिए 400 गज के बढ़िया प्लॉट ( कार्मशियल यूज संभव वाले) ड्रा में डाले गए। शहीद भगत सिंह नगर के भीतर 500 गज के प्लॉट 25 से 30 हजार रुपए प्रति गज में उपलब्ध हैं, लेकिन जो प्लॉट इस ड्रा में (प्लॉट नंबर 9 बी) निकाला गया उसका मार्केट रेट 80 हजार से एक लाख प्रति गज बताया जा रहा है। इस तरह से अलॉटी को सीधे सीधे 2 करोड़ से 2.50 करोड़ का फायदा ट्रस्ट अफसरों की ओर से दे दिया गया। वहीं दूसरी ओर सरकारी खाते में भी घालमेल का अंजाम दे दिया गया। नियमों के तहत सरकारी खाते में 400 गज के प्लॉट के एवज में सरकारी रिजर्व रेट की डेढ़ गुना राशि सरकारी खाते में जमा होनी चाहिए थी, लेकिन यहां भी सेटिंग के खेल के चलते केवल सिंगल रिजर्व रेट ही लिया गया। जिससे सरकारी खाते में केवल एक करोड़ रुपए के आसपास राशि जमा होगी, जब कि 500 गज के एवज में सरकारी खाते में 2.50 करोड़ रुपए जमा होना था। ऐसे सरकारी खाते में करीब 1.50 करोड़ का चूना लगा दिया गया।
बड़ी बात है कि इस ड्रा के लिए मता व अन्य जरुरी चीजें केवल दो तीन दिन में पूरी कर ली गई और ड्रा दौरान जरुरी मैंबर्स तक को नहीं बुलाया गया।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News