लार्ज इंडस्ट्री को बहादुरके सीईटीपी विजिट करवाने पहुंचे पीपीसीबी के चेयरमैन, बोले दस से नीचे भी हो सकता है बीओडी मेनटेन

Oct 5, 2020 / /

यशपाल शर्मा, लुधियाना
बहादुरके रोड सीईटीपी की बेहतर कारगुजारी ने शहर की लार्ज इंडस्ट्री की दिक्कतों को बढ़ा दिया है और अब अब लार्ज इंडस्ट्री को भी अपने ईटीपी ( एफयूलेंट ट्रीटमेंट प्लांट ) का डिस्चार्ज 10 बीओडी से नीचे मेनटेन करना होगा। असल में लार्ज इंडस्ट्री की ओर से पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन एसएस मरवाहा से ट्रीटेड डिस्चार्ज का पैरामीटर दस बीओडी से नीचे रखने में दिक्कत आने की बात कह इसे 30 बीओडी पर रखने की बात कही जा रही थी, लेकिन पीपीसीबी के चेयरमैन मरवाहा ने आज लार्ज इंडस्ट्री संचालकों व उनके पदाधिकारियों को बहादुरके रोड पर स्मॉल स्केल डाइंग इंडस्ट्री की ओर से लगाए गए पंजाब के पहले 15 एमएलडी सीईटीपी की विजिट करवा उनका पूरा भ्रम दूर कर दिया। मरवाहा ने यहां लार्ज इंडस्ट्री संचालकों व उनके स्टाफ को दिखाया कि कैसे इस सीईटीपी से 7.6 बीओडी के पैरामीटर पर ट्रीटेड डिस्चार्ज मेनटेन किया जा रहा है। जहां लार्ज स्केल इंडस्ट्री से आए पदाधिकारी ये पैरामीटर देखकर हैरान थे, वहीं इस दौरान चेयरमैन एसएस मरवाहा ने बहादुरके सीईटीपी की इस बेहतर कारगुजारी के लिए तरुण जैन बावा, सुभाष सैनी, ललित जैन सहित अन्य को बधाई भी दी। इस अवसर पर पीपीसीबी से मेंबर सेक्रेटरी करुणेश गर्ग, चीफ इंजीनियर गुलशन राय, एसई संदीप बहल भी मौजूद थे। जबकि लार्ज इंडस्ट्री में वर्धमान, नाहर ग्रुप, महालक्ष्मी, पीवीएम, ओरियंटल निटफैब के पदाधिकारी व संचालक मौजूद थे। गौर हो कि 15 एमएलडी के बहादुरके रोड सीईटीपी से करीब 35 डाइंगें जुड़नी है और इनमें से 25 डाइंगों का डिस्चार्ज सीईटीपी में पहुंचने लगा है। सीईटीपी विजिट के बाद चेयरमैन एसएस मरवाहा ने पीपीसीबी आफिस में अफसरों से मीटिंग भी की और उन्हें हिदायत करते कहा कि ठीक काम कर रही इंडस्ट्री को बेफजूल में तंग न किया जाए और जो नियमों को पूरा नहीं कर रहा उसे बख्शा भी न जाए।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News