कैप्टन ने शिव राज चौहान को दी चेतावनी-सीएए को लेकर भाजपा को चुकानी होगी भारी कीमत

Jan 8, 2020 / /

 
ई न्यूज पंजाब, चंडीगढ़ 
 
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिव राज चौहान की तरफ से केंद्र सरकार द्वारा सी.ए.ए. को हर कीमत पर लागू करने की धमकी भरे दिए बयान को आड़े हाथों लेते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को कहा कि भाजपा को अपने इस जि़द्दी और अडिय़ल रवैए की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी।
मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि एक चुनी हुई सरकार जो अपने लोगों की आवाज़ को सुनने और उनके गुस्से का जवाब देने से विमुख हो, उसका विश्वास खोना और पतन निश्चित है। उन्होंने कहा कि सी.ए.ए. पर भाजपा का रूख ख़तरनाक फासीवाद पहुँच वाला है जो उनको ले डूबेगा। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि जहाँ तक उनकी सरकार का सम्बन्ध है तो इस विभाजनकारी कानून को पंजाब में लागू करने का सवाल ही नहीं पैदा होता। उन्होंने ऐलान किया, ‘‘आप हमें इसको लागू करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते।’’ उन्होंने साथ ही कहा कि न ही वह और न ही कांग्रेस पार्टी पाकिस्तान में सिखों की तरह दूसरे मुल्कों में पीडि़त अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के खि़लाफ़ हैं। वह तो मुसलमानों समेत कुछ धर्मों के लोगों के साथ किए जा रहे भेदभाव के कारण सी.ए.ए. के विरोधी हैं। शिव राज चौहान के हैरान कर देने वाले बेतुके बयान पर बरसते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि विवादित नागरिकता संशोधन बिल के खि़लाफ़ फूटे देश व्यापक रोष प्रदर्शन के बावजूद भाजपा के नेतृत्व वाली एन.डी.ए. सरकार कानून की असंवैधानिकता को मानने से पूरी तरह विमुख है।
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री की तरफ से बीते कल लुधियाना में दिए गए बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि चौहान दूसरे भाजपा नेताओं की तरह सी.ए.ए. के बुरे प्रभावों से अवगत नहीं हैं और न ही वह इनको जानना चाहते हैं।
पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि चौहान को इस बात का बिल्कुल भी इल्म नहीं है कि वह क्या कह रहे हैं और न ही उन्होंने इस कानून का अध्ययन करने का कष्ट किया है जिस कारण देश भर में बड़े स्तर पर रोष प्रदर्शन हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि चौहान का यह दावा कि यह प्रदर्शन कांग्रेस या किसी अन्य पार्टी की दिमाग़ी सोच है, बिल्कुल गलत है। यह रोष देश भर में सभी धर्मों और पार्टी स्तर से ऊपर उठकर अपने आप पैदा हुआ है।
कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा, ‘‘क्या चौहान इस बात पर विश्वास करते हैं कि नौजवानों और विद्यार्थियों समेत लाखों की संख्या में सडक़ों पर गोलियाँ और लाठियाँ खाने के लिए उतरे लोग कांग्रेस के समर्थक हैं?’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘न ही वह और न ही भाजपा नेता प्रदर्शनकारियों की आवाज़ सुन रहे हैं जिनमें से बहुतों की इस मामले के साथ कोई निजी हिस्सेदारी नहीं।’’ भारत के लोग वह देख रहे हैं जो चौहान देखने में असफल हैं कि सी.ए.ए. एक असंवैधानिक कानून है जो भारत के संविधान की धर्म निरपेक्ष भावना को ख़त्म कर रहा है। सी.ए.ए. अब सत्ताधारी भाजपा और इसके नेताओं के लिए अंहकार का मुद्दा बन गया है जिन्होंने अपनी आँखें बंद कर ली हैं। सी.ए.ए. और एन.आर.सी. देश के लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाएगा। पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत के लोग मूर्ख नहीं हैं जो सी.ए.ए. को बनाने की भावना को समझ रहे हैं जो भारत की धर्म निरपेक्ष छवि को नुकसान पहुँचा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा और उसके सहयोगियों को इस कदम के लिए कभी माफ नहीं किया जा सकेगा।


Send Your Views

Comments


eNews Latest Videos


Related News